भरी जवानी में मर रहे मीडियाकर्मी! ऐसे में जीवन कैसे जिएं?

जीवन क्या है? आना और जाना है। ये तो सब जानते हैं। पर आने जाने के…

कभी कभी मेरे कपार में खयाल आता है कि….

कभी कभी मेरे कपार में खयाल आता है कि…. ये जो पूरा ब्रह्मांड है, ये जो…

नींद, कैंसर, कोरोना और ज़िंदगी!

चीन हमारे वक्त का सबसे महत्वाकांक्षी और सबसे ताकतवर मुल्कों में से एक है. उनने अब…

रोजाना एक नींबू पीकर कैंसर का खतरा टाल सकते हैं!

आज विश्व कैंसर दिवस है। कैंसर हमें भी हो सकता है। आपको भी। हो सकता है…

आनंदित होना होगा तो नरक में भी सुकून मिल जाएगा

एक बुजुर्ग महिला रात भर चिल्लाती रहीं। मैं रात भर बुद्ध बना रहा। कब आंख खुल…

मेरी बेचैनियां मेरी सम्वेदना-समझ को समृद्ध करती हैं।

कल एकमित्र का फोन आया। पूछे, क्या कुछ आप बेचैन, अस्थिर से हैं क्या? मैंने कुबूल…

बंजारों-सी हस्ती, मुझे न तू संभाल…

बंजारों-सी हस्ती, मुझे न तू संभाल प्रेम से भटकता हूँ, प्रेम में रुकता हूँ

उदासी भरे दिन कभी तो ढलेंगे…

कहां तक ये मन को, अंधेरे छलेंगे, उदासी भरे दिन, कभी तो ढलेंगे… कई फिल्मी गीत…

नशे से कौन बच सका है..

ना सोना साथ जाएगा ना चांदी जाएगी… सत्ता, धन, ताकत, शोहरत, राजपाट, सिंहासन से लंबे समय…

क्या मनुष्यता त्याग कर ज्यादा बड़े कैनवस में शरीक होने का वक्त आ चुका है!

…मनुष्य से बड़ा कमीना, धूर्त, चालबाज, मक्कार, विध्वंसक, स्वार्थी और पाखंडी दूसरी कोई मुंह-हाथ-पैर-पेट वाली प्रजाति…