वक़्त ने हमको सब्र सिखाया!

फ़िक्र दे देकर बेफ़िक्र बनाया!
वक़्त ने हमको सब्र सिखाया!

(मैनपुरी से एक शादी समारोह से वापस लौटने के दौरान शुद्ध हवा तापते)

Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *